इगतपुरी के मुख्य पर्यटक स्थल घूमने की संपूर्ण जानकारी - Best Tourist Place In Igatpuri In Hindi-

अगर आप ऐसी जगह की तलाश कर रहे हैं जहाँ आप शहर के चकाचौंध भरी दुनिया से दूर शांति से कुछ पल बिता सकते हैं तो इगतपुरी आपके लिए सर्वोत्तम स्थान है।तो आइए हम आपको इगतपुरी में घूमने लायक स्थान के बारे में जानकारी देंगे।

इगतपुरी के मुख्य पर्यटक स्थल घूमने की संपूर्ण जानकारी - Best Tourist Place In Igatpuri In Hindi-
इगतपुरी के मुख्य पर्यटक स्थल घूमने की संपूर्ण जानकारी - Best Tourist Place In Igatpuri In Hindi-
इगतपुरी के मुख्य पर्यटक स्थल घूमने की संपूर्ण जानकारी - Best Tourist Place In Igatpuri In Hindi-
Nature

इगतपुरी में घूमने लायक जगह - Tourist Place of Igatpuri in Hindi :

इगतपुरी महाराष्ट्र के नासिक जिले में स्थित एक पर्वतीय स्थल है। यह पश्चमी घाट पर स्थित है। इस छोटे शहर की खूबसूरती मनभावन है । यह शहर प्रकृति प्रेमियों के साथ साथ एडवेंचर पसन्द करने वालों को भी आकर्षित करता है। इसके शानदार किले और पहाड़ियाँ की सुंदरता भी काफी प्रचलित है । यहां कई फिल्मों की शूटिंग भी की गई है। इगतपुरी ने अपनी प्रकृति की तरह ही अपनी संस्कृति को भी सजाये रखा है । चलिए इगतपुरी के खूबसूरत स्थलों जैसे म्यांमार गेट, त्रिंगलवाडी किला, वैतरणा डैम, कालसुबाई चोटी आदि से परिचित होते हैं:-

इगतपुरी के मुख्य पर्यटक स्थल - Famous Tourist Place in Igatpuri in hindi :

1.इगतपुरी की त्रिंगलवाड़ी किला - Tringalwadi Fort Igatpuri in Hindi :

यह किला त्रिंगलवाडी गांव के पास स्थित है। इस किले के निर्माण के बारे में कोई ठोस सूचना नही है पर यह माना जाता है कि इस किले का निर्माण 10 वी शताब्दी में हुआ था। इस किले पर मुगल से लेके मराठा तक सबने शासन किया। पहाड़ी पर स्थित होने के कारण यह जगह ट्रेकर्स को बहुत प्रभावित करती है। किले के इर्दगिर्द हरियाली ही हरियाली है इसलिए यह पर्यटकों को भी लुभक्ता है। प्रकृति को पसंद करने वालो को यहां ज़रूर आना चाहिए। जिन्हें रोमांच पसन्द है ट्रैकिंग और कैंपिंग का शोंक है उनके लिए यह एकदम सही जगह है।

2. इगतपुरी की वैतरणा बांध - Vaitarna Dam Igatpuri in Hindi :

वैतरणा बांध 1950 में वैतरणा नदी पर बनाया गया था। इस बांध के बाद ही भारत मे कंकरीट से बांधो को बनाने का चलन शुरू हुआ था। इस बांध से पश्चिमी घाटों के सुंदर नज़ारे को देख जा सकता है। बांध के परिसर में बना सुंदर लैगून इसकी प्राकृतिक सुंदरता को और निखार देता है। यह बांध मुम्बई का प्राथमिक जलस्त्रोत है । इस बांध की सुंदरता और भव्यता देखने योग्य है।

3. इगतपुरी की कालसुबाई चोटी - Kalsubai Peak Igatpuri in Hindi :

भारत के महाराष्ट्र में स्थित कलसुबाई चोटी पश्चिम घाट में एक पर्वत है। यह महाराष्ट्र की सबसे ऊंची चोटी है । 1646 मीटर की ऊँचाई पर स्थित इसका शिखर महाराष्ट्र का सबसे ऊंचा स्थान है। इस शिखर की चोटी पर एक मंदिर है जिसका नाम कलसुबाई मंदिर है इस मंदिर के नाम पर ही इस छोटी का नाम रखा गया था। इस मंदिर में होली, नवरात्रि जैसे त्योहारों पर मेला भी लगता है। महाराष्ट्र के सबसे ऊंचे शिखर पर से नज़ारा देखने के लिए यहां आना आवश्यक हो जाता है।

4. इगतपुरी की घाटन देवी मंदिर - Ghatandevi Mandir Igatpuri in Hindi :

घाटन देवी मंदिर इगतपुरी की सुंदर घाटियों के बीच स्थित है। यह एक प्राचीन मंदिर है जो घटादेवी को समर्पित है। आसपास के स्थानीय लोगों का मानना है कि घटादेवी (घाटों की रक्षक) है। मंदिर के पीछे की  त्रिंगलवाडी किला स्थित है। मंदिर से विशाल पश्चमी घाटों का नज़ारा  बहुत ही सुंदर है। विश्वास और श्रद्धा की खूबसूरती को समेटे यह मंदिर इगतपुरी आने के लिए आकर्षित करता है।

5. इगतपुरी की ऊंट घाटी - Camel Valley Igatpuri in Hindi :

कैमल घाटी इगतपुरी में भटसा नदी के पास स्थित है। इस जगह मुख्य आकर्षण 1000 फीट की ऊँचाई से नीचे गिरने वाले पानी का झरना है। बारिशों के दिनों में यह घाटी जीवंत हो उठती है। हल्की हल्की धुंध की चादर से ढकी हरी-भरी घाटी बहुत ही आकर्षक है। यहां रिवर राफ्टिंग और रिवर क्रासिंग जैसे एडवेंचर स्पोर्ट्स भी करवाये जाते है। यहाँ की सुंदरता और झरने की आवाज़ सुकून भारी है। कैमल घाटी की यात्रा आपको तरोताज़ा कर देगी।

6. इगतपुरी की भातसा नदी घाटी - Bhatsa River Valley Igatpuri in Hindi :

भातसा नदी घाटी इगतपुरी में बसा एक ओर सुकून से भरा स्थान है जहां शांति से कुछ समय बिताया जा सकता है। हरियाली से चारों तरफ से घिरी इस घाटी का दृश्य बहुत ही आंनदमय है। यहां भी रिवर राफटिंग और रिवर क्रासिंग जैसे रोमांचक स्पोर्ट्स का मज़ा पर्यटक ले सकते है। यहाँ की ठंडी हवा आपको जीवंत कर देगी। यह जगह प्रकृति प्रेमियों के लिए आदर्श जगह है।

7. इगतपुरी की  विपश्यना इंटरनेशनल अकादमी - Vipassana international Academy Igatpuri in Hindi :

1976 में एस एन गोयनका द्वारा इगतपुरी में विपश्यना इंटरनेशनल अकादमी (वीआईए) की स्थापना हुई। यह अकादमी विपश्यना का एक केंद्र है, जो भारत मे 2,500 साल पहले बुद्ध द्वारा सिखाई गयी ध्यान की एक तकनीक है। यह विपश्यना तकनीक (वीआईए) अकादमी में पाठ्यक्रम के रूप में प्रस्तुत किया जाता है जो आगंतुकों को आकर्षित करता है। विपश्यना इंटरनेशनल अकादमी को 'धम्म गिरी' के नाम से भी जाना जाता है। यह अपने 10 दिवसीय ध्यान पाठ्यक्रम के लिए भी प्रसिद्ध है। एक बार मे 600 लोग ही इस कोर्स में भाग ले सकते हैं। अकादमी आगंतुकों के लिए छात्रावास की सुविधा भी प्रदान करती है।


8. इगतपुरी की विहिगाँव झरना - Vihigaon Waterfall Igatpuri in Hindi : 

इगतपुरी से 13.5 किमी की दूरी पर विहीगांव झरना महाराष्ट्र के ठाणे जिले के विहीगांव में स्थित है। यह एक मौसमी झरना है जो मॉनसून के दिनों में देखा जाता है। यह महाराष्ट्र के सबसे अच्छे प्राकृतिक झरनों में से एक है और बहुत लोकप्रिय भी है।

यह झरना लगभग 120 फ़ीट की ऊँचाई से नीचे गिर रहा है। यह झरना 'अशोक झरना' के नाम से भी जाना जाता है। झरना विहीगांव के जंगल के बीच स्थित है उसको देखने के लिए पर्यटकों की छोटी सी 30 मिनट की ट्रैकिंग भी हो जाती है। साथ ही जंगल की सुंदरता और पक्षियों का नज़ारा भी देखने को मिल जाता है। अशोका फ़िल्म की शूटिंग भी इस झरने के पास हुई है।

यह जगह रोमांचक व्यक्तियों को लुभाने वाली है। यहाँ भोजन और आवास की कोई सुविधा नही है। झरने की सुंदरता आपका दिन बना देगी।

9. इगतपुरी की अमृतेश्वर मंदिर - Amruteshwar Temple Igatpuri in Hindi :

रतनवाड़ी में स्थित अमृतेश्वर मंदिर एक नक्काशीदार शिव मंदिर है। शिलहारा वंश के शासकों ने इस ख़ूबसूरत मंदिर का निर्माण 9 वी शताब्दी ईस्वी में किया था। यह मंदिर 1200 साल पुराना है। यह राजा झांझ द्वारा निर्मित 12 शिव मंदिरों में से एक है। मंदिर जंगल और हरियाली से घिरा हुआ है। इसकी सुंदरता के कारण इसे महाराष्ट्र का कश्मीर भी कहा जाता है।

10. इगतपुरी की डरना डैम - Darna Dam Igatpuri in Hindi : 

इगतपुरी के पास स्थित डरना डैम 1916 में ब्रिटिश सरकार द्वारा बनवाया गया था। इसकी सुंदरता प्रकृति प्रेमियों को बहुत पसंद आएगी। बरसात के मौसम में जब इसके चारो तरफ हरियाली होती है और डैम में पानी भी अधिक होता है उस समय यहाँ का दृश्य अद्भुत होता है। अगर आप सही समय पे पहुंचे तो डैम के दरवाजों से पानी गिरता हुई भी देख सकते हैं।

11. इगतपुरी की तालेगांव झील - Talegaon Lake Igatpuri in Hindi :

इगतपुरी का तालेगांव झील प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर है। खास कर सुबह के समय इसका नज़ारा देख ऐसा लगता है की यह स्वयं भगवान की धरती है। सुंदर झील पास में प्राचीन जैन मंदिर, करला गुफाएँ, वाटर पार्क जैसे स्थान इस जगह को और सुंदर बना देते हैं। जो भी शाँतिपूर्ण और प्रदूषण मुक्त वातावरण में आना चाहता है वह इस जगह ज़रूर आये।

12. इगतपुरी की  बिटंगड ट्रेक - Bitangad Trek Igatpuri in Hindi : 

इगतपुरी अपनी सुंदरता और ऊंचे-ऊंचे किलों के लिए प्रचलित है। यहां लोग ट्रैकिंग जैसे रोमांचक स्पोर्टस करने भी आते हैं। बिटंगड ट्रैक इगतपुरी में ट्रैकिंग के लिए मशहूर है। लोग यहां ट्रैकिंग का मज़ा ले सकते हैं। पहाड़ी का शिखर बहुत छोटा है और इस पर बहुत कुछ नहीं बचा है। रास्ते में एक गुफ़ा है, और सबसे ऊपर पानी के कुछ कुंड हैं। शीर्ष पर स्थित पठार घनी वनस्पति से आच्छादित है, और कलसुबाई रेंज में चोटियों का बहुत अच्छा दृश्य प्रस्तुत होता है।

13. इगतपुरी की  कुलंगदड ट्रेक - Kulangadd Trek Igatpuri in hindi : 

बिटंगड ट्रैक की तरह ही कुलंगदड ट्रैक भी इगतपुरी में ट्रैकिंग के लिए प्रचलित जगह है। ट्रैकिंग करते हुए जंगल और पहाड़ों की सुंदरता का दृश्य अद्भुत होता है। ट्रैकिंग पसन्द करने वालों को यहां आ कुलंगदड  ट्रैक का अनुभव करना चाहिए।

14. इगतपुरी की  म्यांमार गेट - Myanmar Gate Igatpuri in hindi : 

महाराष्ट्र के इगतपुरी में स्तिथ म्यांमार गेट प्रसिद्ध धम्मागिरी मठ या विपश्यना ध्यान केंद्र का भव्य और सुंदरता से भरपूर प्रवेश द्वार है। इस गेट की बनावट ही अद्भुत है। यह गेट पर्यटकों को बहुत आकर्षित करता है। इस सुंदर द्वार की भव्यता से भीतर की भव्यता का अंदाजा लगाया जा सकता है।

15. इगतपुरी की  संधान घाटी - Sandhan Valley  Igatpuri in hindi : 

संधान घाटी 'वैली ऑफ शैडोज़' के नाम से भी प्रचलित है। चट्टानी इलाके में बसी यह घाटी 1.5 किमी लंबी और 200 मीटर गहरी है। यह घाटी भंडाराडारा नदी के पास स्थित है। संधान घाटी पानी की नक्काशीदार घाटी है जो इससे सबसे अलग बनाती है। इस घाटी के कुछ विशिष्ट बिंदु हैं जहां कभी भी सूर्य की किरणें नही पहुंच पाती इसलिए इसका नाम 'वैली ऑफ शैडोज़' यानी छांया दर घाटी है। बरसात के मौसम के दौरान इस क्षेत्र में भारी वर्षा होती है जो इसे हरा भरा स्वर्गीय स्थान बनाती है। मॉनसून के दौरान आप यहां अद्भुत झरनों का अनुभव कर सकते हैं।

16. इगतपुरी की मदंगड पहाड़ - Madangad Igatpuri mountain in hindi:

कालसुबाई रेंज में स्थित, मदनगढ़ पर्वत इगतपुरी के लोकप्रिय स्थानों में सबसे ऊपर आता है। उल्लेखनीय रूप से यह अपने किले के लिए प्रसिद्ध है। सह्याद्री पर्वत श्रृंखला पर आपको रोमांच का अनुभव होगा क्योंकि पहाड़ लगभग 4700 फीट की ऊँचाई पर हैं। इसके अलावा, बरसात के मौसम में इस जगह पर आने के बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि पहाड़ के चारों ओर घने जंगल हैं। हालांकि बारिश में यहां का रास्ता तय करना थोड़ा कठिन हो सकता है, लेकिन इस जगह की सुंदरता देखने लायक है।

स्थान: नाशिक के पास सह्याद्री पर्वत श्रृंखला, कालसुबाई रेंज, मुंबई-नासिक राजमार्ग पर देखा जा सकता है।

17.इगतपुरी की  करौली घाट - Karoli ghat Igatpuri in Hindi :

मॉनसून के दिनों में लंबी ड्राइविंग का अनुभव स्वर्गीय होता है। करौली घाट तक कि यात्रा के दौरान रास्ते मे आने वाली प्राकृतिक सुंदरता आपको खुश कर देगी। एक बार जब आप वहां पहुंच जाते हैं तो वहां 2 घंटे में पूरी होने वाली ट्रैकिंग का भी चयन कर ही लेते हैं। हाईवे और हरियाली आपकी यहां की यात्रा को सफल बना देते हैं। यही कारण है कि करौली घाट इगतपुरी के लोकप्रिय स्थानों में से एक है।

18. इगतपुरी की  कसारा घाट - Kasara ghat Igatpuri in Hindi :

कसारा घाट, जिसे थाल घाट के नाम से भी जाना जाता है। 585 मीटर की ऊंचाई पर स्थित, कसारा घाट हरी भरी पहाड़ियों और प्राकृतिक सुंदरता से घिरा हुआ है। पहाड़ी दर्रा पश्चिमी घाट की सह्याद्रिस श्रेणी में स्थित है। यह जगह आमतौर पर प्रकृति प्रेमियों और साहसिक लोगों के बीच लोकप्रिय है। आप पहाड़ियों में एक छोटे से ट्रेक का आनंद ले सकते हैं और पास के झरने को भी देख  सकते हैं जो प्राकृतिक सौंदर्य का प्रतीक हैं। कोहरे में ढँकी हुई यह जगह, धरती पर स्वर्ग का नज़ारा देती है। कई लोग शहर की हलचल से दूर आराम करने के लिए यहाँ आते हैं, जबकि कुछ अपने प्रियजनों के साथ एक शांत पिकनिक मनाने के लिए यहाँ आते हैं। यहां एक बात का खास ध्यान रखें कि ड्राइविंग करते समय बहुत अधिक सतर्क रहें और सावधानी बरतें।

19. इगतपुरी का स्थानीय भोजन - Best local Food of Igatpuri in Hindi :

इगतपुरी का मुख्य तो मराठी भोजन है पर यहां उत्तर और दक्षिण के व्यंजन भी मिल जाते हैं। इडली, डोसा से लेकर परांठा तक सब यहां मिल जाता है। वडा पाव इगतपुरी की खासियत है, इसे ट्राय करना न भूलें। पर्यटकों और ट्रैककर्स का यहां आना जाना लगा रहता है इसलिए यहां होटलों की भी भरमार है।

20. इगतपुरी कि पर्यटकों के लिए शॉपिंग मार्केट - Shopping Market in Igatpuri in Hindi :

इगतपुरी की सुंदरता के साथ खरीदारी का भी आंनद पर्यटक लेते हैं। सिटी सेन्टर मॉल, तिब्बतियन वेलफेयर एसोसिएशन मार्किट, सिन्नार मार्किट आदि कई यहां के प्रसिद्ध बज़ार हैं। यहां जरूरत का सभी सामान आसानी से मिल जाता है।

21. इगतपुरी आने का सही समय - Best time to visit Igatpuri :

इगतपुरी आने का सही समय मॉनसून (जून से मार्च) और सर्दियाँ (नवंबर-दिसंबर) का मौसम है। बरसात में इगतपुरी की हरियाली अधिक खिल जाती है और हरा रंग भी गहरा हो जाता है। सर्दियों में यहां भिन्न प्रकार के एडवेंचर एक्टिविटी कारवाई जाती हैं। गर्मियों में यहां काफी हुमस हो जाती है।

22. इगतपुरी कैसे पहुँचे - How to Reach Igatpuri  :

इगतपुरी मुम्बई से सुविधा पूर्व जुड़ा हुआ है। मुम्बई से इगतपुरी फ्लाइट से, बस से, रोड से तीनों तरीकों से पहुंच जा सकता है। मुम्बई में लोकल ट्रंसपोर्ट का इस्तेमाल भी बड़ी संख्या में होता है।   

मुम्बई से लगातार लोकल बसें इगतपुरी को जाती रहती हैं तो उन बसों का भी प्रयोग किया जा सकता है। आप मुम्बई से एक दिन के लिए इगातपुरी को जाने वाली कैब या टैक्सी भी बुक कर सकते हैं। पर सबसे आसान और सस्ता तरीका ट्रैन ही है।

फ्लाइट से इगतपुरी कैसे पहुँचे-

How to Reach Igatpuri By Flight -

मुम्बई(135 किमी), ओरंगाबाद(236 किमी), पुणे (238 किमी) के हवाईअड्डे इगतपुरी के सबसे नजदीक है। हवाईअड्डे के बाहर टैक्सी आसानी से मिल जाती है। या फिर बस और ट्रेन से भी आगे का सफर पूरा किया जा सकता है। इगतपुरी के सबसे नजदीक छत्रपति शिवजी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा (99किमी) पड़ता है।



ट्रैन से इगतपुरी कैसे पहुँचा जाए-

How to Reach Igatpuri by Train in Hindi-

सबसे आसान तरीका इगतपुरी पहुंचने का ट्रैन ही है क्योंकि इस शहर में इगतपुरी रेलवे स्टेशन ही बना हुआ है। मुम्बई, हुवाह, दिल्ली से लगातार इगतपुरी के लिए ट्रैन चलती रहती हैं। 9 सीधे ट्रैन मुंम्बई से इगतपुरी जाती हैं। मुम्बई से ट्रेन में कम से कम 1घंटे 40 मिनट लगते है। इगतपुरी पहुंचने का सबसे सस्ता तरीका ट्रैन ही है। ट्रैन इगतपुरी बाकी वाहनों के मुकाबले जल्दी भी पहुँचा देती है।



सड़क से इगातपुरी कैसे पहुँचे-

How To Reach Igatpuri By Road- 

मुम्बई सड़क से इगतपुरी को दो रूट जाते हैं पहला रूट 121 किमी का है और दूसरा रूट 144 किमी का है। दोनों रूट इस प्रकार हैं:-

पहला-- मुंबई - छेद्दा नगर - एनएच 160 से ओल्ड मुंबई आगरा रोड़ - तलेगाँव - बजरंग वाडा - इगतपुरी

दूसरा-- मुंबई - छेद्दा नगर - ईस्टर्न एक्सप्रेस राजमार्ग - भिवंडी रोड़ - वाडा रोड - एनएच 848 से वाडा शाहपुर रोड़ - कलामगांव - कसारा बायपास के माध्यम से एनएच 160 - बजरंग वाडा - इगतपुरी

पहले रूट से 3 घंटे का समय लगेगा और दूसरे रूट से 4 घंटे का समय लगेगा। पहले वाले रूट को लेना ही सुविधाजनक होगा।

इगतपुरी की प्राकृतिक सुंदरता आपको चकाचोंध कर देगी। अगर आप रोमांचक खेलों का शोंक रखते हैं तो यह जगह आपके लिए एकदम सटीक है।अपनी व्यस्त जिंदगी से थोड़े से लम्हे चुरा कर इगतपुरी की यात्रा ज़रूर कीजियेगा।

Nature