बानी बेगम गार्डन औरंगाबाद - Bani Begam Garden Aurangabad in Hindi

सभी पाठकों को हमारा नमस्कार। आज हम अपने इस लेख के जरिये आपको औरंगाबाद में स्थित बानी बेगम गार्डन की सैर कराएँगे ही साथ ही उसकी संपूर्ण जानकारी भी आपके साथ साँझा करेंगे। इस अद्भुत बगीचे की सैर और संपूर्ण जानकारी के लिए लेख को अंत तक ज़रूर पढ़ियेगा। 

बानी बेगम गार्डन औरंगाबाद - Bani Begam Garden Aurangabad in Hindi
Nature

बानी बेगम गार्डन औरंगाबाद घूमने की जानकारी - Baani Begam Garden of Aurangabad in Hindi : 

  • बानी बेगम गार्डन महाराष्ट्र के औरंगाबाद में स्थित है। जो औरंगाबाद शहर से 24 कि.मी. की दूरी पर स्थित है। हरियाली और शांत वातावरण के साथ यह अद्भुत बगीचा अपनी सुंदर और आकर्षक वास्तुकला के कारण पर्यटकों के बीच बहुत मशहूर है।
  • मुग़लकाल के दौरान बना यह बगीचा संपूर्ण मुग़ल शैली की बनावट को प्रस्तुत करता है। यहाँ के गुंबद, स्तम्भ, कुंड, फव्वारे सभी इतनी खूबसूरती से सजे हुए हैं कि जिन्हें आप देखकर एक अनोखे आनंद का सुख प्राप्त करेंगे।          
  • यदि आप शहर की भागम-भाग से थोड़ा-सा आराम पाना चाहते हैं तो यह बगीचा आपके लिए बिलकुल उपयुक्त है क्योंकि यहाँ का शांत वातावरण आपको भीतर तक शान्ति प्रदान करता है।

औरंगाबाद बानी बेगम गार्डन का इतिहास - History of Baani Begam Garden Aurangabad in Hindi :

  • बानी बेगम गार्डन औरंगाबाद के खुल्दाबाद में स्थित है। यह गार्डन अपनी मुग़ल शैली की बनावट के लिए प्रसिद्ध है। इस गार्डन का नाम बानी बेगम के नाम पर रखा गया है जो औरंगजेब के बेटे आज़म शाह की पत्नी थीं।
  • बानी बेगम की कब्र इस बगीचे के बीचो-बीच स्थित है। यूँ भी कह सकते हैं यह बगीचा बानी बेगम के याद में उनकी एक मजार है। 

औरंगाबाद के बानी बेगम गार्डन की विशेषताएँ - Famous spot of Aurangabad’s Baani Begam Garden in Hindi :  

  • संपूर्ण बानी बेगम गार्डन को जल चैनलों द्वारा चार हिस्सों में विभाजित किया गया है और छोटे जल चैनल इन्हें उप-विभाजित करते हैं।
  • इस बगीचे में तीन ‘बारादरी’ हैं, (पूर्वी, पश्चिमी और दक्षिणी) जो मुग़ल वास्तुकला की एक विशिष्ट शैली है।
  • बारह+दरी=बारादरी। अर्थात् बारा मतलब संख्यात्मक रूप से 12 और दरी का अर्थ है-‘द्वार’। यानी बारादरी एक 12 दरवाजों वाली संरचना।
  • बगीचे में हर संरचना के सामने 5 स्कैलप्ड मेहराब हैं, साथ ही रियर में भी 5 और कक्ष में सामने 2 हैं।
  • बगीचे के केंद्र में एक ओर बाड़ा भी मौजूद है जिसे ‘बंगला’ कहा जाता है, जो चार कियोस्क से घिरा हुआ है।
  • इसे बंगला इसलिए कहा जाता है क्योंकि इस शैली में छत्त को फूस की झोंपड़ी जैसा आकार दिया जाता है और इस शैली का प्रयोग आमतौर पर बंगाल एक मंदिरों की छत्तों में देखने को मिलता है।
  • बगीचे में केंद्र में एक अष्टकोणीय प्लिंथर पर चारों तरह से हरियाली से घिरी हुई बानी बेगम की कब्र है।  जिसके पास उनके जन्म और मृत्यु से संबंधित जानकारी भी मौजूद है।
  • बानी बेगम कब्र के एकदम पीछे की तरह एक बनी बेगम झील भी जो इस स्थान की बेहद खूबसूरत जगह है। बीच के पुल के जरिये आप पूरी झील को देख सकते हैं।  

इस मुग़ल शैली में बना यह पूरा बगीचा आपको जमाने की वास्तुकला, कारीगरी, बारीक़ नक्काशी जो गुम्बदों में, दीवारों पर और स्तंभों में की गई है, उसका अद्भुत नूमना पेश करता है। साथ ही यहाँ की हरियाली और शान्ति आपको अलग दुनिया का अनुभव कराएगी। 

यदि आप फोटोग्राफी के शौकीन हैं तो यहाँ का आर्किटेक्चर आपके फोटो-शूट के लिए कमाल का बैगग्राउंड तैयार करता है। तो आप जब भी औरंगाबाद की सैर पर निकले, इस शाही विरासत की धरोहर बानी बेगम के गार्डन को देखना न भूलें। 

बानी बेगम के नजदीक अन्य पर्यटक स्थल - Other Tourist Spots Near to Bani Begam Garden Aurangabad in Hindi : 

  • बानी बेगम गार्डन के नजदीक ज़ैनुद्दीन शिरज़ाई का मकबरा, नगरखाना गेट, औरंगज़ेब का मकबरा, आज़म शाह का मकबरा, मलिक अम्बर का मकबरा और ज़ार ज़ारी ज़ार बक्श और गज रावंतगंज के मकबरे हैं। 
  • इसलिए अगर आप बानी बेगम की यात्रा पर निकलते हैं तो आप इन सभी स्थानों की यात्रा करना एक साथ करना आपके लिए संभव होगा।      
Nature