मिर्जापुर के मुख्य पर्यटक स्थल घूमने की संपूर्ण जानकारी - Mirzapur tourist place in Hindi

मिर्जापुर भारत के उत्तर प्रदेश का एक जिला है यह जिला इलाहाबाद (प्रयागराज) से लगभग 90 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है तथा वाराणसी से चुनार की दूरी लगभग 50 किलोमीटर है

मिर्जापुर के मुख्य पर्यटक स्थल घूमने की संपूर्ण जानकारी - Mirzapur tourist place in Hindi

मिर्जापुर के मुख्य पर्यटक स्थल घूमने की संपूर्ण जानकारी - Mirzapur Best tourist place in Hindi

मेरे प्रिय पाठक आपका प्रेम पूर्वक नमस्कार हमारे इस नए लेख में इस लेख में हम मिर्जापुर के अच्छे पर्यटक स्थल की घूमने की संपूर्ण जानकारी देंगे तथा मिर्जापुर गैंगस्टर की कहानी का भी वर्णन करेंगे | मिर्जापुर की सीजन 1 और सीजन 2 वेब सीरीज अमेज़न प्राइम वीडियो पर अवेलेबल है जी हां यह सीरीज अमेज़न प्राइम वीडियो पर देखा होगा हम उसी मिर्जापुर की बात कर रहे हैं और इसी का वर्णन हम अपने इस लेख में करेंगे अतः आपसे अनुरोध है कि हमारे इस लेख को अंत तक पढ़े और आप भी जाने कि यह वही मिर्जापुर है जो उत्तर प्रदेश का एक जिला है |

चुनार - मिर्जापुर की परिचय - Introduction of Chunar Mirzapur:

  • चुनार में चुनार का किला बहुत ही प्रसिद्ध है तथा चुनार चीनी मिट्टी की मूर्ति के लिए भी जाना जाता है | चुनार और मिर्जापुर के बीच की दूरी लगभग 30 किलोमीटर है|

  • मिर्जापुर में विंध्याचल की पहाड़ियां है  पहाड़ों में बारूद से ब्लास्टिंग करके पत्थर निकाले जाते हैं | 
  • मिर्जापुर जिला संस्कृति तथा इतिहास और प्राकृतिक रूप से बहुत ज्यादा मायने रखता है पर्यटकों के लिए बरसात के मौसम में अर्थात सावन के समय में मिर्जापुर की सुंदरता अद्भुत होती है यहां के पहाड़ों पर हरे हरे हरे-भरे घास तथा झरनों के रौद्र रूप की अद्भुत सुंदरता होती है | मिर्जापुर शहर गंगा नदी के किनारे बसा है|
  • जो लोग उत्तर प्रदेश से नहीं है वह इस मिर्जापुर को तो नहीं जानते होंगे हां लेकिन मिर्जापुर  वेब सीरीज (Mirzapur web series) देखकर आप समझ गए होंगे कि यह मिर्जापुर एक गैंगस्टर का क्षेत्र है लेकिन ऐसा नहीं है बहुत पहले हुआ करता था अब वैसा कुछ भी नहीं है | 

 मिर्जापुर के पर्यटक स्थल - Best tourist place in Mirzapur: 

1. मिर्जापुर के जलप्रपात - 

  • मिर्जापुर के जलप्रपात आपको देखना है तो आप यहां पर सावन के मौसम समय में आइए  आपको अद्भुत दर्शन देखने को मिलेगा | अगर आप आसपास के क्षेत्र के रहने वाले हैं तो आप आसानी से आ सकते हैं जलप्रपात (Waterfall)  इन सब जलप्रपात पर आप अपना एक अच्छा वीकेंड पिकनिक के साथ एंजॉय कर सकते हैं बस आपको मेरी एक सलाह है कि यदि आप नशा का सेवन करते हैं |

  • मेरे प्रिय पर्यटक आप से अनुरोध है कि यहां के सभी जलप्रपात बहुत ही खतरनाक हैं आप किसी भी नशा का सेवन करके पानियों में जाने की कोशिश ना करें अपनी सुरक्षा का स्वयं ध्यान रखें क्योंकि सावधानी हटी दुर्घटना घटी और हम आपको आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इन सभी वाटरफॉल से हर साल दो तीन घटनाएं होती हैं उन घटनाओं का कारण सिर्फ नशा और फोटो लेने के चक्कर में होता है कुछ कारण जरूरत से ज्यादा मस्ती और मस्ती में होश खो बैठना | 

 Best Time visit Mirzapur Waterfall -

  • मेरे प्रिय पर्यटक अगर आपको  मिर्जापुर वाटरफॉल का आनंद लेना है तो सबसे अच्छा मौसम घूमने का सावन होता है | सावन में इन सब की वाटरफॉल पर अब अपनी फैमिली अपनी गर्लफ्रेंड तथा अपने दोस्तों के साथ यहां पिकनिक कर सकते हैं  अतः आपसे अनुरोध है कि यहां पर आप जाइए तो आप अपने साथ आईडी लेकर जाइए यहां कभी कोई पुलिस पूछताछ कर सकती है |

1.1 बाबा सिद्धनाथ की दरी - Baba siddhnath ki Dari waterfall Mirzapur in Hindi:

  • बाबा सिद्धनाथ की दरी चुनार से 20 किलोमीटर  की दूरी पर अड़गड़ानंद आश्रम मार्ग पर स्थित है  या हम कह सकते हैं कि सिद्धनाथ की दरी चुनार से राजगढ़ रोड पर 20 किलोमीटर की दूरी पर  स्थित है| बाबा सिद्धनाथ की दरी पर गाड़ियों के पार्किंग के लिए बहुत अच्छी जगह है तथा यहां पर कुछ एंट्री फीस भी देना पड़ता है | सिद्धनाथ की दरी पर प्राकृतिक रूप से लगभग 100 मीटर की ऊंचाई से पानी गिरता है एक कुंड में इस कुंड से पानी एक नदी में चला जाता है |
  • यदि आप सावन में शनिवार- रविवार के दिन जाते हैं तो आपको ज्यादा भीड़ मिलेगी यहां पर आपको फोटोग्राफर भी मिल जाएंगे जो आपको तुरंत फोटो खींच कर दे देते हैं तथा कुछ स्थानीय लोग खाने पीने के सामान भी बेचते हैं | 

1.2 लखनिया दरी - Lakhaniya Dari waterfall Mirzapur in Hindi:

  • मेरे प्रिय पर्यटक यदि आप वाराणसी से लखनिया दरी जाना चाहते हैं तो आप  नारायणपुर से रावटसगंज वाला हाईवे (NH-5A) पर औरोरा से कुछ दूरी पर स्थित है | बहुत ही खतरनाक दरी है अगर आप यहां पर पिकनिक के लिए जाते हैं तो बहुत ही सावधानी से इंजॉय कीजिए  और मेरी एक सलाह है कि इन सब जगहों पर सबसे ज्यादा दुर्घटना सेल्फी लेने के चक्कर में होते हैं तो प्लीज आप सेल्फी से बचे हैं जान है तो जहान है| 

1.3 विंडोम फॉल - Wyndom Waterfall Mirzapur in Hindi:

  • यह जगह मिर्जापुर - घोरावल रोड पर मिर्जापुर से 15 किलोमीटर की  दूरी पर पड़ता है ।

1.4 टांडा वाटर फॉल - Tanda Waterfall Mirzapur in Hindi:

  • टांडा वॉटरफॉल मिर्जापुर लगभग 14 किलोमीटर की दौड़ में स्थित है |

2. मिर्जापुर  के शक्तिपीठ मंदिर - Mirzapur Shaktipeeth Temple:

  • मेरे प्रिय पर्यटक कुछ प्रसिद्ध शक्तिपीठ मंदिर है जो आप चुनार मिर्जापुर क्षेत्र में घूम सकते हैं जो इस प्रकार हैं -

2.1 मां विंध्यवासिनी देवी विंध्याचल - Vindhyawasini Devi Mirzapur Vindhyachal in Hindi:  

  • मिर्जापुर रेलवे स्टेशन से मां विंध्यवासिनी देवी की दूरी लगभग 7 से 8 किलोमीटर है |  विंध्याचल रेलवे स्टेशन पर बहुत सारी गाड़ियां रूकती है यह रेलवे स्टेशन  दिल्ली और पंडित दीनदयाल उपाध्याय रेलवे मार्ग पर स्थित है| यह एक शक्ति पीठ मंदिर है |

  • पौराणिक कथा के अनुसार मार्कंडेय पुराण में मां विंध्यवासिनी ने महिषासुर का वध करने के लिए अवतार लिया था मान्यताओं के अनुसार कहा जाता है कि इस स्थान पर जो मनुष्य तब करता है उसे सिद्धि की प्राप्ति होती है|
  • यहां श्रद्धालु आकर मां विंध्यवासिनी देवी ,अष्टभुजी देवी मंदिर ,कालीखोह का मंदिर दर्शन करके त्रिकोण परिक्रमा पूरा हो जाता है |
  • विंध्यवासिनी देवी मंदिर मां दुर्गा को समर्पित है |कालीखोह मंदिर देवी महाकाली को समर्पित प्राचीन गुफा के रूप में स्थित है |यह विंध्यवासिनी मंदिर से 6 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है |

2.2  शीतला देवी अदलपुरा चुनार - Sheetla Devi Adalpura Chunar in Hindi:

  • मां शीतला देवी चुनार घाट से लगभग 7 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है तथा वाराणसी से 24 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है | मां शीतला देवी का मंदिर गंगा नदी के किनारे स्थित है यह शक्ति पीठ मंदिर है |यहां पर सभी धार्मिक कार्य किए जाते हैं जैसे मुंडन करना शादी विवाह  करना इत्यादि | 

2.3  अष्टभुजी मंदिर - Ashtbhuji Mandir Mirzapur in Hindi:

  • अष्टभुजी मंदिर मां सरस्वती को समर्पित एक पहाड़ी पर स्थित है |पौराणिक कथाओं के अनुसार कहा जाता है कि अष्टभुजा  भगवान श्री कृष्ण की बहन थी जो राक्षस कंस की पकड़ से खुद को छुड़ाने के बाद यहां पर आई थी |

2.4 मां दुर्गा मंदिर चुनार - Durga Mandir Chunar in Hindi:

  • माता दुर्गा का मंदिर चुनार रेलवे स्टेशन से राजगढ़ मार्ग पर चुनार से 1 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है | यह मंदिर धार्मिक मान्यताओं के अनुसार अपनी त्रिकोण यात्रा के लिए भी प्रसिद्ध है जैसे मां विंध्यवासिनी का दर्शन त्रिकोणी यात्रा के बाद ही पूर्ण माना जाता है ठीक उसी तरह मान्यता है कि माता दुर्गा का दर्शन भी त्रिकोणी यात्रा के बाद पूर्ण माना जाता है|

  • दुर्गा मंदिर के बगल में त्रिकोण यात्रा के दूसरे चरण में काली माता का मंदिर स्थित है इसके बाद तीसरे चरण में भैरव जी का मंदिर काली माता मंदिर के सामने उपस्थित है | इस मंदिर पर सभी धार्मिक कार्य किए जाते हैं जैसे किसी का मुंडन करना हो या विवाह करना हो|

3. मिर्जापुर के निकट चुनार किला - Chunar Fort History in Hindi:

  • मिर्जापुर के निकट चुनार में स्थित चुनार किला कैमूर पर्वत के उत्तर दिशा में स्थित है या किला गंगा नदी के किनारे एक छोटी सी पहाड़ी पर बसा है|प्रिय पाठक आप लोग टीवी सीरियल चंद्रकांता देखा होगा ,चंद्रकांता की कहानी इसी किले से संबंध रखता है |इतिहास में यह किला चुनारगढ़ के नाम से प्रसिद्ध है | इस किले का निर्माण 56 ईसा पूर्व उज्जैन के महाराज विक्रमादित्य ने करवाया था | 

  • चुनार का किला एक आकर्षण का केंद्र है यहां कई सारे पर्यटक घूमने के लिए आते हैं इस किले का एंट्री फीस फ्री है इस समय इस किले में पीएसी कैंप बना हुआ है अगर आप को मौका मिले तो इस किले को घूमने जरूर जाएं |इस किले में बहुत सारे राज छुपे हुए हैं|सोनवा रानी का मंडप इसी किले में बना हुआ है कहा जाता है कि इस मंडप में कभी किसी का शादी नहीं हो पाया यह हमेशा कुंवारा ही रहा मंडप |

4. चुनार अड़गड़ानंद परमहंस आश्रम - Shri paramhans aashram Chunar sateshGarh in Hindi:

  • श्री परमहंस आश्रम उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर जिले में स्थित है चुनार बस स्टैंड से राजगढ़ मार्ग पर चुनार से 18 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है यह आश्रम बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है गुरु पूर्णिमा के दिन 10 लाख से ज्यादा श्रद्धालु उपस्थित होते हैं  यह भी एक पर्यटक का आकर्षण का केंद्र है परमहंस के भक्त विदेशों में भी हैं जो खास मौके पर यहां पर आते हैं |

  • इस आश्रम में श्रद्धालुओं को रुकने के लिए अच्छी व्यवस्था हैं यहां के बाग बगीचे देखकर आप मंत्रमुग्ध हो जाएंगे | 

 वेब सीरीज इन मिर्जापुर - Web Series in Mirzapur :

Mirzapur web series Amazon prime videos-

  • मेरे प्रिय पाठक मिर्जापुर वेब सीरीज को बहुत सारे लोगों ने पसंद किया है यह सीरीज क्राइम -थ्रिलर टीवी सीरीज है |यह सीरीज  उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर से संबंधित है |इस सीरीज में मिर्जापुर ,जौनपुर ,आजमगढ़ तथा अन्य आसपास के क्षेत्रों का जिक्र किया गया है| मेरे दोस्तों अगर यह सीरीज आपने नहीं देखा है तो आप यह सीरीज अमेजॉन प्राइम वीडियो पर उपलब्ध है आप वहां से सीजन वन देख सकते हैं , दूसरा सीजन  23 अक्टूबर 2020 को रिलीज हो रहा है| 

  • मिर्जापुर वेब सीरीज में पंकज त्रिपाठी, अली फजल, विक्रांत मासी, श्वेता त्रिपाठी, श्रेया ,रसिका  दुग्गल,हर्षिता गौर, दिव्यांशु शर्मा कुलभूषण खरबंदा ने इस सीरीज में मुख्य भूमिका निभाई है

Mirzapur web series season 2 Release23 October 2020 on Amazon prime videos. 

मिर्जापुर वेब सीरीज देखकर आपको पता चल गया होगा कि यहां किस प्रकार की गालियां दी जाती है अगर आप शुद्ध मिर्जापुर वासी की 15 मिनट गाली सुन लेंगे तो कान से खून निकलने लग जाएगा (लेखक की भावना को समझिए)