अल्मोड़ा के दर्शनीय स्थल - Best Tourist Places in Almora hill station in Hindi

मेरे प्रिय पाठक आपका प्रेम पूर्वक नमस्कार हमारे इस नए लेख में, इस लेख में हम अल्मोड़ा के टूरिस्ट प्लेसेस की यात्रा करने की संपूर्ण जानकारी देंगे अतः आपसे अनुरोध है कि हमारे इस लेख को पूरा अंत तक पढ़े |

अल्मोड़ा के दर्शनीय स्थल - Best Tourist Places in Almora hill station in Hindi
Nature

अल्मोड़ा में घूमने लायक जगह - Best Tourist Places Visit Almora In Hindi :

मेरे प्रिय पाठक आपका प्रेम पूर्वक नमस्कार हमारे इस नए लेख में ,इस लेख में हम अल्मोड़ा यात्रा करने की संपूर्ण जानकारी देंगे अतः आपसे अनुरोध है कि हमारे इस लेख को पूरा अंत तक पढ़े | 

अल्मोड़ा हिल स्टेशन - Almora Hill Station In Hindi : 

  • अल्मोड़ा भारत के उत्तराखंड राज्य का एक शहर है | अल्मोड़ा की आकर्षक सुंदरता जैसे कि हिमालय का दृश्य, पहाड़ों की वादियां को देखकर ‌ आप लोगों को अपनी तरफ आकर्षित करती है अगर देखा जाए तो अल्मोड़ा खाने के अलग-अलग व्यंजनों के लिए भी प्रसिद्ध है।
  • अल्मोड़ा शहर उत्तराखंड का एक शानदार हिल स्टेशन है जो अपनी और पर्यटकों को आकर्षित करता है |यह हिल स्टेशन घोड़े के पैरों की नाल की आकार का प्रतीत होता है | अल्मोड़ा शहर के मध्य से दो नदियों का बहाव है | अल्मोड़ा हिल स्टेशन समुद्र तल से 1638 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है | मेरे प्रिय दोस्तों यदि आपको सौभाग्य मिले उत्तराखंड घूमने का तो अल्मोड़ा एक बार जरूर आइए | 

अल्मोड़ा का इतिहास - Almora history in Hindi :

  • पिथौरागढ़ जिले को 24 फरवरी 1960 को अल्मोड़ा और 15 सितंबर 1997 को बागेश्वर जिले में तराशा गया था।

अल्मोड़ा के प्रसिद्ध मंदिर - Famous Temple In Almora In Hindi:

  • अल्मोड़ा में कई सारे मंदिर हैं , जिनकी मान्यता अलग-अलग है | हम आपको सबसे ज्यादा फेमस मंदिर के बारे में जानकारी दे रहे हैं | आप अपने यात्रा प्लान के अनुसार इन मंदिरों का दर्शन कर सकते हैं |

1. अल्मोड़ा का दुनागिरि मंदिर - Dunagiri Temple In Almora In Hindi :

  • मां दूनागिरी मंदिर हिंदुओं का एक प्रसिद्ध मंदिर है, जो उत्तराखंड राज्य के अल्मोड़ा जिले में स्थित है।वैष्णो देवी के बाद अल्मोड़ा में “दूनागिरी” दूसरी वैष्णो शक्तिपीठ | 
  • मंदिर के बारे में एक पौराणिक कथा है कि त्रेता युग में जब युद्ध में लक्ष्मण को शक्ति बाण लगने से मूर्छित हो गए थे | सुशेन वैद्य महाराज ने हनुमान जी से “द्रोणाचल” पर्वत से संजीवनी बूटी लाने को बोला था | उनकी आज्ञा के अनुसार हनुमान जी पूरा पर्वत लेकर आ रहे थे तभी पर्वत का एक हिस्सा टूट कर गिर गया इसके बाद गिरे हुए स्थान पर दूनागिरी का मंदिर बना दिया गया | 
  • दूनागिरी मंदिर के बारे में मान्यता है कि जो भक्त सच्चे मन से यहां भक्ति करते हैं तो उनकी मुराद जरूर पूरी होती है | यदि आपको अल्मोड़ा घूमने का सौभाग्य मिले हो आप इस मंदिर एक बार जरूर जाइए दर्शन करने के लिए | 

2. अल्मोड़ा का कसार देवी मंदिर - Kasar Devi Temple In Almora In Hindi :

  • अल्मोड़ा पर्यटन स्थलों में सबसे पसंदीदा कसार देवी मंदिर है |अल्मोड़ा में एक छोटा सा गाँव है जो अपने प्रतिष्ठित कासर देवी मंदिर के लिए जाना जाता है। इस स्थान पर पर्यटन को गति मिली क्योंकि यह हिप्पी ट्रेल का एक हिस्सा बन गया था।
  • दोस्तों यह मंदिर अद्भुत है यहां पर चुंबकीय क्षेत्र का प्रभाव है जो एक अनसुलझा रहस्य है | अमेरिका के नासा के वैज्ञानिक इस मंदिर पर शोध करने के लिए आए हुए हैं इसके अलावा अन्य देशों के वैज्ञानिक भी आते रहते हैं |
  • इस मंदिर परिसर में जीपीएस 8 ( GPS -8) पॉइंट मार्क किए गए हैं | यह पॉइंट अमेरिका के नासा के वैज्ञानिकों द्वारा मंदिर के मुख्य द्वार के लेफ्ट साइड मार्क किया गया है |

3. अल्मोड़ा का चितई गोलू देवता मंदिर - Chitai Golu Devta Temple In Almora In Hindi-

  • चितई गोलू देवता मंदिर अल्मोड़ा का एक प्रसिद्ध मंदिर है | यह मंदिर 8 किलोमीटर की दूरी पर पिथौरागढ़ हाईवे पर स्थित है | यह मंदिर न्याय के देवता कहे जाने वाले गोलू देवता के नाम से प्रसिद्ध है |यह प्रसिद्ध मंदिर थोड़ी दूरी पर स्थित है, इस मंदिर में घोड़े पर सवार तथा धनुष बाण लिए हुए गोलू देवता की प्रतिमा है | 
  • इस मंदिर का दर्शन करने के लिए देश ही नहीं बल्कि विदेशों से भी भारी मात्रा में भक्त आते हैं | दोस्तों जब इस मंदिर में प्रवेश करोगे तो आप अनगिनत घंटियों को देखकर दंग रह जाएंगे इसके पीछे सच्चाई यह है कि जिन भक्तों का मनोकामना पूरा होता है तो वह लोग यहां घंटियां बांध कर जाते हैं इससे अंदाजा हो जाएगा की कहोआर सी कंट्रोलरइस मंदिर में बहुत ही शक्ति है | इसीलिए तो लोग कहते हैं गोलू देवता सब के साथ न्याय करते हैं | कुछ लोग इसे घंटी वाला मंदिर भी कहते हैं | 

4. अल्मोड़ा का नंदादेवी मंदिर - Nanda Devi Mandir In Almora In Hindi : 

  • नंदा देवी मंदिर का इतिहास दोस्तों 1000 साल से अधिक पुराना है |यह मंदिर समर्पित है चंद वंश को ,इस नंदा देवी मंदिर पर प्रत्येक वर्ष सितंबर महीने में मेला का आयोजन किया जाता है | नंदा देवी दुर्गा का अवतार है |यह मंदिर शहर से 2 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है | इस मंदिर का पत्थर से बना हुआ मुकुट तथा दीवारों पर पत्थर से बना हुआ कलाकृति इस मंदिर की शोभा बढ़ा देते हैं |

5. अल्मोड़ा का कटारमल सूर्य मंदिर - Katarmal Sun Temple In Almora :

  • कटारमल सूर्य देव मंदिर अल्मोड़ा शहर से लगभग 16 किलोमीटर की दूरी पर रानीखेत मार्ग पर पहाड़ी पर स्थित है | यह मंदिर सूर्य देव को समर्पित है |ऐसा कहा जाता है कि यह मंदिर उड़ीसा के कोर्णाक सूर्य मंदिर से भी पुराना है | सूर्य मंदिर के अलावा यहां पर 45 अन्य छोटे-बड़े मंदिर है |
  • इस मंदिर का निर्माण कटारमल द्वारा 6ठी शताब्दी से 9वी शताब्दीके मध्य हुआ | कटारमल कस्तूरी राजवंश के शासक थे | मंदिर का निर्माण चबूतरे पर हुआ है |

6. अल्मोड़ा का जागेश्वर धाम मंदिर - Jageshwar Dham Temple In Almora 

  • जागेश्वर मंदिर समूह में 125 छोटे बड़े मंदिर है |यह मंदिर कैलाश मानसरोवर के प्राचीन मार्ग पर स्थित जागेश्वर,शिव के 12 ज्योतिर्लिंग में से एक है |ऐसी मान्यता है कि जगतगुरू आदि शंकराचार्य ने इस स्थान का भ्रमण किया और इसको पुनर्स्थापित किया भगवान शिव को तथा अन्य देवी-देवताओं को समर्पित है | जिसमें जागेश्वर, मृत्युंजय ,नवदुर्गा ,सूर्य ,नवग्रह, पुष्टि देवी ,कालिका तथा लक्ष्मी देवी मुख्य है | यहां देवदार के पेड़ है जो करीब 100 फीट लंबा है | जागेश्वर धाम , पौराणिक कथाओं के अनुसार ऋषि मुनि यहां पर तपस्या किए हैं | यह बहुत ही पवित्र स्थान है यहां पर आपको जरूर जाना चाहिए घूमने के लिए और भगवान का दर्शन भी कीजिए | 

अल्मोड़ा में घूमने लायक पर्यटक स्थल - Famous Tourist Places In Almora In Hindi :

  • दोस्तों अल्मोड़ा में मंदिर के अलावा अन्य कई सारे पर्यटक स्थल है, जो आप अपनी सुविधा अनुसार यहां पर घूम सकते हैं जो इस प्रकार हैं -

1. अल्मोड़ा में घूमने लायक जगह जीरो प्वाइंट - Zero Point In Almora In Hindi : 

  • बिनसर वन्यजीव अभयारण्य में स्थित, जीरो प्वाइंट बिनसर में उच्चतम बिंदु है। जीरो प्वाइंट से आसमान का दृश्य मंत्रमुग्ध कर देने वाला है, खासकर सूर्यास्त और सूर्योदय के दौरान।केदारनाथ शिखर, शिवलिंग, और नंदादेवी जैसी चोटियों सहित हिमालय के मनोरम दृश्य को देख सकते हैं। 
  • बिनसर जीरो प्वाइंट, बिनसर वन्यजीव का उच्चतम सहूलियत बिंदु है, जहां से कोई भी हिमालयी सुंदरियों के 360 डिग्री के दृश्य को देख सकता है।

2. अल्मोड़ा में जलना हिमालय की सुंदरता - Beauty Of Jalna Himalaya In Almora In Hindi : 

  • जलना एक छोटा सा पहाड़ी शहर है। जो यात्रियों को कुछ एकांत स्थान प्रदान करता है। जालना अल्मोड़ा से 30 किमी दूर स्थित है। जालना 1,675 मीटर की ऊंचाई पर है। यह स्थिति हिमालयन रेंज की मनोरम दृष्टि प्रदान करती है।  
  • जालना कुटुम्बरी देवी मंदिर और बनारी देवी मंदिर के करीब भी है जहाँ पूरे भारत से हजारों लोग दर्शन के लिए आते हैं। जालना एक हिमालयन का सामना करने वाली बेल्ट है और माँ प्रकृति के बहुत करीब है और आधुनिक जीवन की भागदौड़ से बहुत दूर है।
  • जालना एक सम्मोहक पलायन के लिए बनाता है। प्रकृति प्रेमी आश्चर्यचकित हो सकते हैं यदि वे जंगलों के कम-ट्रैवर्स-रास्तों के साथ ट्रेक करते हैं और यहां पर 480 से अधिक पक्षियों की प्रजातियां, वनस्पतियों की एक विस्तृत श्रृंखला और तितली संग्रह से भरे जंगल पाए जाते हैं। 

3. आकर्षक जगह उज्ज्वल ब्राइट एंड कॉर्नर के बारे में - Bright End Corner In Almora In Hindi : 

  • अल्मोड़ा से 3 किमी दूर स्थित, ब्राइट एंड कॉर्नर सूर्यास्त और सूर्योदय के लुभावने दृश्य प्रस्तुत करता है। इस शांत दृश्य के पास एक विवेकानंद पुस्तकालय है जो इसके बहुत करीब स्थित है। 
  • यह प्राकृतिक स्वर्ग शाम और शाम को बर्फीली चोटियों के साथ लुका-छिपी खेलने का एक अद्भुत दृश्य पेश करता है।यह एक विशेष बिंदु है जहां से हिमालय के अविश्वसनीय दृश्य देख सकते हैं। सूर्यास्त और सूर्योदय के समय प्रकृति की लुभावनी सुंदरता के लिए यह खिड़की अधिक शानदार हो जाती है। यह एक हेयर पिन मोड़ पर स्थित है और हिमालयी चोटियों जैसे त्रिशूल I, त्रिशूल II, त्रिशूल III, नंदा देवी, नंदकोट, पंचाचूली इत्यादि को प्रदर्शित करता है।

4. अल्मोड़ा में एडवेंचर स्पोर्ट्स - Adventure Sports In Almora In Hindi : 

  • अल्मोड़ा कुमाऊं पर्वत श्रृंखला में स्थित है और यह माउंटेन बाइकिंग के लिए भारत में सबसे लोकप्रिय स्थलों में से एक है। यहां दिन के हिसाब से बाइक किराए पर लेते हैं, और आप ऊबड़-खाबड़ पहाड़ी रास्तों पर बाइक चलाने का आनंद ले सकते हैं। 

5. अल्मोड़ा मे एडवेंचर रिवर राफ्टिंग - Adventure River Rafting In Almora In Hindi : 

  • यदि आप अल्मोड़ा में रिवर राफ्टिंग का आनंद लेना चाहते हैं तो काली शारदा नदी जाना होगा यहां पर आप राफ्टिंग का मजा ले सकते हैं लेकिन दोस्तों आप यहां पर कोई भी एक्टिविटी करें पर अपनी सावधानी का विशेष ध्यान रखें क्योंकि सावधानी हटी दुर्घटना घटी |

6. अल्मोड़ा में बोडेन मेमोरियल मेथोडिस्ट चर्च की लोकप्रियता - Popularity Of Budden Memorial Methodist Church In Almora In Hindi 

  • पोखर खली में स्थित बुडेन मेमोरियल मेथोडिस्ट चर्च, अल्मोड़ा में घूमने के लिए सबसे प्रमुख स्थानों में से एक है। ब्रिटिश काल के दौरान बनाया गया यह चर्च क्षेत्र की सबसे पुरानी संरचनाओं में से एक है।हर साल क्रिसमस के दौरान इस चर्च को खूबसूरती से सजाया जाता है और सभी धर्मों के लोग अपने धर्म के बावजूद आते हैं।
  • बोडेन मेमोरियल मेथोडिस्ट चर्च अल्मोड़ा के लोगों के लिए एक लोकप्रिय क्रिसमस समय का आकर्षण है। चर्च का निर्माण 1897 में श्रद्धालु जॉन हार्डी पर लन्दन मिशनरी सोसाइटी से जुड़े बोझ के रूप में किया गया था। जिन्हें बाद में कप्तान हेनरी रामसे ने रूमा में एक मिशनरी पद की पेशकश की थी।

पता:-

धारनौला, अल्मोड़ा, उत्तराखंड 263601

7. अल्मोड़ा के दर्शन स्थल रानीखेत द्वाराहाट विलेज - Almora Ke Darshaniya Sthal Ranikhet Dwarahat Village In Hindi : 

  • 2001 की भारत की जनगणना के अनुसार, द्वाराहाट की आबादी 2,543 थी। पुरुषों की आबादी 53% और महिलाओं की 47% है। रानीखेत उत्तराखंड राज्य में प्रचीन मंदिरों के पास ऐसा हिल स्टेशन है जो अंग्रेजों द्वारा बना हुआ है और जो हिमालय पर्वत की पहाड़ियों को आपस में जोड़ता है।
  • रानी खेत की शांत वायु और वादियां लोगों को अपनी तरफ आने के लिए आकर्षित करती हैं। रानीखेत भारतीय सेना के कुमाऊं रेजिमेंट के मुख्यालय के लिए भी प्रसिद्ध है और यहां कुमाऊं रेजिमेंटल सेंटर संग्रहालय भी बना हुआ है। इस संग्रहालय में हथियारों, फोटो आदि का शानदार तरीके से प्रदर्शन किया गया है जो अपने सेना के ऐतिहासिक भव्यता और महत्व का परिचय देता है। 

8. अल्मोड़ा का गोबिंद वल्लभ पंत संग्रहालय - Gobind Vallabh Pant Museum In Almora In Hindi : 

  • कत्युरी और चंद राजवंशों की कुछ विरासतों को आश्रय देते हुए, माल रोड पर स्थित संग्रहालय में लोक शैली की पेंटिंग के सुंदर संग्रह भी हैं।जिन्हें एस्पेन और कुमाउनी प्राचीन वस्तुओं के रूप में जाना जाता है। गोविंद बल्लभ पंत संग्रहालय को राज्य संग्रहालय के रूप में भी जाना जाता है और यह अल्मोड़ा बस स्टैंड के सामने स्थित है।
  • 1980 में निर्मित, संग्रहालय का नाम गोविंद बल्लभ पंत (जीबी पंत) के नाम पर रखा गया है, ताकि उत्तराखंड के विकास में उनके योगदान का सम्मान किया जा सके। संग्रहालय में अलग-अलग प्रकार की चीजें और ऐतिहासिक चीजें भी शामिल है।

पता:-

चौक बाजार, पल्टन बाजार, धारनौला, अल्मोड़ा, उत्तराखंड 263601

अल्मोड़ा के आसपास के घूमने लायक पर्यटक स्थल - Tourist Places Near Almora :

दोस्तों अल्मोड़ा आप घूम लिए हो तो इसके अलावा और घूमने का प्लान बना रहे हैं तो इन जगहों पर भी घूम सकते हैं |यह सभी टूरिस्ट प्लेस अल्मोड़ा से 60 किलोमीटर के अंदर है |

  1. Nainital (नैनीताल)
  2. Ranikhet (रानीखेत )
  3. Bhimtal ( भीमताल )
  4. Mukteshwar (मुक्तेश्वर )
  5. Sattal (सातताल )
  6. Auli (औली )
  7. Naukuchiatal ( नौकुचियाताल )

अल्मोड़ा में खरीदारी - Shopping In Almora In Hindi :

  • अल्मोड़ा भारत में कुछ बेहतरीन हस्तशिल्प और सजावटी वस्तुओं के संग्रह के लिए प्रसिद्ध है। 
  • आप ब्रोंज़वेयर, पीतल के बर्तन, खरगोश ऊन के कपड़े, मिठाई, हिमालयी ऊन, तांबा, जातीय वस्त्र, धातु के बर्तन, ऑक्सीकृत गहने, स्वेटर, स्कार्फ और अंगोरा कपड़े जैसी दिलचस्प वस्तुओं की खरीदारी कर सकते हैं। घर प्रामाणिक अल्मोड़ा उत्पादों को लेने के लिए सड़क के बाजारों और छोटी दुकानों से चिपके रहें।

अल्मोड़ा जाने का सबसे अच्छा समय - Best Time To Visit Almora In Hindi :

  • वैसे अल्मोड़ा तो किसी भी मौसम में जा सकते हैं लेकिन सबसे अच्छा समय मार्च से अप्रैल का महीना होता है क्योंकि यहां पर शांत वातावरण मिलता है 

अल्मोड़ा में रेस्टोरेंट और स्थानीय भोजन - Restaurants And Local Food In Almora In Hindi :

  • अल्मोड़ा में रहते हुए, आप उत्तराखंड के स्वादिष्ट और प्रामाणिक स्थानीय व्यंजनों का आनंद ले सकते हैं। इन व्यंजनों की कोशिश करो, क्योंकि ये कुछ अनोखी तैयारियाँ हैं जो भारतीय थाली की हैं और लगभग इस क्षेत्र के लिए विशेष हैं।
  • यहां आवश्यक वस्तुओं में लोकप्रिय और पारंपरिक स्थानीय मिठाइयां शामिल हैं। अल्मोड़ा की प्रसिद्ध दूध मिठाई, चोक्लेट - एक गाढ़ा दूध, जिसमें गुड़ जैसी स्थिरता और सिंगौरी के साथ दूध मीठा होता है
  • अन्य स्थानीय व्यंजनों में भाँग की खटाई, मिश्रित दाल सलाद, कप्पा (एक हरी करी), सिसुनक साग (हरी पत्तेदार सब्जियों और कई स्थानीय सामग्रियों से तैयार एक व्यंजन), आलू की सब्जी और एक कुमाउनी आलू पकवान), आलू दाल पकोड़ा, शामिल हैं। रस (कई दाल की तैयारी) और भी बहुत कुछ। 'अद्रक' (अदरक) की चाय भी एक प्रसिद्ध स्वागत पेय है।

अल्मोड़ा कैसे पहुँचें - How To Reach Almora In Hindi :

मेरे प्रिय पाठक अल्मोड़ा जाने के लिए अपने सुविधानुसार योजना बना सकते हैं जो इस प्रकार है- 

अल्मोड़ा रोड के द्वारा कैसे पहुंचे - How To Reach Almora By Road In Hindi :

  • लखनऊ, देहरादून, नैनीताल, दिल्ली, बरेली, काठगोदाम, पिथौरागढ़, हरिद्वार और हल्द्वानी जैसे शहरों से अल्मोड़ा की सड़क यात्रा की योजना आसानी से बनाई जा सकती है।

अल्मोड़ा फ्लाइट के द्वारा कैसे पहुंचे - How To Reach Almora By Flight In Hindi :

  • पंतनगर निकटतम हवाई अड्डा है जहाँ से अल्मोड़ा 120 किलोमीटर दूर है, टैक्सी द्वारा पहुँचा जाता है।

अल्मोड़ा ट्रेन से कैसे पहुंचे - How To Reach Almora By Train In Hindi :

  • अल्मोड़ा का सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन काठगोदाम है, काठगोदाम से अल्मोड़ा की दूरी लगभग 83 किलोमीटर है | काठगोदाम से प्रमुख शहरों के लिए हमेशा ट्रेन मिल जाती है अगर आप किसी प्रकार काठगोदाम रेलवे स्टेशन पहुंच गए तो यहां से बस या टैक्सी के द्वारा अल्मोड़ा जा सकते हैं |
Nature