वैष्णो देवी यात्रा की संपूर्ण जानकारी - Vaishno Devi Trip In Hindi

मेरे प्रिय  पाठक आपका प्रेम पूर्वक नमस्कार हमारे इस लेख में , दोस्तों इस लेख में हम माता वैष्णो देवी की यात्रा करने की संपूर्ण जानकारी  देंगे ,आपसे अनुरोध है कि हमारे इस लेख को पूरा अंत तक पढ़े |

वैष्णो देवी यात्रा की संपूर्ण जानकारी - Vaishno Devi Trip In Hindi
Nature

मां वैष्णो देवी मंदिर की एक झांकी - Tourist Places Vaishno Devi In Hindi :

  • 'जय माता दी, सारे बोलो जय माता दी, ज़ोर से बोलो जय माता दी' हम सभी इस लोकप्रिय जयकारे से भलीभांति परिचित हैं। इस जयकारे से श्रद्धालुओं में एक ऊर्जा का भाव समाहित हो जाता है और हम पहुंच जाते हैं वैष्णो देवी के मंदिर और उसके आसपास मौजूद घाटियों में। वैष्णो देवी मंदिर का नज़ारा ही कुछ ऐसा है जिससे हजारों भक्त उसकी ओर खींचे चले आते हैं। f
  • वैष्णो देवी की यात्रा हमारी प्राचीन परंपरा का हिस्सा रह चुकी है। यह एक पवित्रतम स्थल है जहां पर लोग या तो जा चुके हैं या जाना चाहते हैं। यह केवल भारत की नहीं बल्कि विश्व की एक लोकप्रिय जगह बन चुकी है और सब इस बात से भी वाकिफ हैं कि इसके रास्ते बेहद जटिल हैं लेकिन इन जटिलताओं के बावजूद भी जब भक्त मंदिर तक पहुंच जाते हैं तब उनको एक असीम आनंद की अनुभूति प्राप्त होती है। श्रद्धा और ऊर्जा से भरा यह पर्यटक स्थल अपने आप में बेहद अनोखा है।

वैष्णो देवी का मंदिर - Vaishno Devi Temple in Hindi :

  • मां वैष्णो देवी का मंदिर लाखों श्रद्धालुओं को अपनी ओर आकर्षित करता है। यह मंदिर जम्मू कश्मीर के कटरा स्थान पर स्थित है। 
  • यह मंदिर की ऊंचाई 5200 फीट पर स्थित है। मंदिर में आदि शक्ति के तीन रूप स्थित हैं वह तीन आदि शक्तियां हैं- महासरस्वती, महालक्ष्मी, महाकाली। 
  • वैष्णो देवी का मंदिर कटरा में त्रिकुटा पहाड़ियों पर स्थित है। यह कटरा से 13.5 KM की दूरी पर मौजूद है। 
  • इस मंदिर पर पहुंचने के लिए इलेक्ट्रिक कार , 4 लोगों द्वारा उठाई जाने वाली पालकी तथा हेलीकॉप्टर अथवा पैदल सवारी की सुविधा है।

मां वैष्णो देवी की प्रचलित कथा - Popular Tales of Goddess Vaishno Devi in Hindi : 

  • मां वैष्णो देवी की कथा के संदर्भ में एक प्रचलित मान्यता यह है कि माता ने अपने भक्त श्रीधर की भक्ति से खुश हो भंडारे का आयोजन कराने में उसकी मदद की थी। देवी भी उस भंडारे में शामिल हुई थी वे एक बालिका के रूप में शामिल हुई थी। भंडारे में मौजूद राक्षस भैरवनाथ का वध करने के लिए वे इस भंडारे में आई थी। वे उन्हें त्रिकुटा पहाड़ी पर ले गई। 
  • मां वैष्णो देवी ने भैरव का वध कर उसका सर काट डाला जो कि 25 किलोमीटर दूर भैरव घाटी पर जा गिरा।भैरव बाबा ने जब माता से माफी मांगी तब माता ने उन्हें मोक्ष की स्थिति में यह कहा कि उनको मुक्ति तभी मिलेगी जब उनके मंदिर के बाद भक्त उनके मंदिर में जाकर भी दर्शन करने आएंगे।
  • एक दूसरी मान्यता के अनुसार यह माना जाता है कि देवी ने दक्षिण में रत्नाकर सागर के यहां जन्म लिया था और उनका नाम इसी वजह से त्रिकुटा रखा गया।
  • देवी ने समुद्र किनारे शिव की तपस्या की। राम जब सीता को खोज रहे थे तब देवी ने बालिका का रूप धारण किया। माता वैष्णो देवी ने राम को बताया कि वे राम को अपने पति के रूप में मान चुकी है। तब राम ने यह बताया कि वह इस जन्म में केवल और केवल सीता के वर हैं लेकिन उन्होंने मां वैष्णो देवी को यह वादा किया कि वह कलयुग में कल्कि अवतार बनकर उनसे विवाह करेंगे।राम ने माता वैष्णो को यह वचन दिया कि समस्त संसार उनकी पूजा करेगा

माता वैष्णो देवी की यात्रा में ध्यान रखने योग्य बातें - Mata Vaishno Devi Temple in Hindi : 

  • माता वैष्णो देवी की यात्रा कटरा से शुरू होती है। यह एक 13 किलोमीटर की चढ़ाई है। कटरा से 1 किलोमीटर की दूरी पर बाणगंगा स्थित है।
  • ऐसा माना जाता है कि यहां पर माता वैष्णो ने अपनी प्यास बुझाई थी। 6 किलोमीटर की दूरी पर अर्द्ध कुमारी नामक पवित्र गुफा स्थित है।
  • आपको टूरिस्ट रिसेप्शन सेंटर कटरा बस स्टैंड पर यात्रा रजिस्ट्रेशन सेंटर से यात्रा स्लिप लेनी होगी। यह यात्रा स्लिप बिल्कुल निशुल्क है। लेकिन आप ध्यान रखें कि इस यात्रा स्लिप के बिना आप वैष्णो देवी की यात्रा नहीं कर पाएंगे 
  • यहां किराए पर कैप, कैनवस, शूज, लाठी मिलती है। 
  • इसके अतिरिक्त यहां सामान ले जाने के लिए बिट्टू की सुविधा भी उपलब्ध है।

वैष्णो देवी में ठहरने की जगह - Places to stay in Vaishno Devi in Hindi :

  • यदि आप वैष्णो देवी की यात्रा कर रहे हैं तो हम आपको बता दें कि कटरा में बहुत से रहने के स्थान उपलब्ध हैं। 
  • सरकार द्वारा निर्मित होटल धर्मशाला यहां पर उपलब्ध हैं। 
  • इसके अतिरिक्त यहां पर निशुल्क आवास की भी सुविधा उपलब्ध है जो बड़े-बड़े हॉल के रूप में मौजूद है। इसके अलावा डॉरमेट्री अथवा किराए पर भी रूम मिल जाते हैं। 
  • पर्यटकों को यह ध्यान में रखना जरूरी है कि किराए पर बुक करने के लिए यहां पहले से रजिस्ट्रेशन करवाना होता है। आजकल रजिस्ट्रेशन की सुविधा ऑनलाइन भी उपलब्ध हो गई है।

वैष्णो देवी मंदिर में दर्शन का सबसे अच्छा मौसम - Best time to visit Goddess Vaishno Devi Temple in Hindi : 

  • वैष्णो देवी मंदिर जम्मू कश्मीर जैसे ठंडे इलाके में स्थित होने के चलते यहां सर्दी में तापमान शून्य से नीचे चला जाता है। 
  • गर्मी में यहां पर मध्यम तापमान बना रहता है। मॉनसून में तेज बारिश होती है। इसलिए पर्यटकों को यह सलाह दी जाती है कि वे गर्मी के मौसम में यहां पर आए तो उन्हें सुविधा होगी।
  • ठंड में यदि आप आए तो आप को गर्म कपड़े ले जाने पड़ेंगे क्योंकि तापमान माइनस 5 डिग्री तक भी पहुंच जाता है।
  • दिसंबर, जनवरी और फरवरी के महीने में यहां स्नोफॉल होती है। 
  • अक्टूबर से मार्च के बीच में यहाँ हल्की ठंड पड़ती है। मई और सितंबर के बीच सुहावना मौसम रहता है। इस समय गर्म कपड़ों की जरूरत नहीं होती।

वैष्णो देवी मंदिर में उपलब्ध सुविधाएं - Facilities available in Goddess Vaishno Devi Temple in Hindi :

  • मां वैष्णो देवी के मंदिर में बहुत सी ऐसी सुविधाएं उपलब्ध हैं जिनके बारे में पर्यटकों को पहले से ही जान लेना चाहिए।
  • यहां पर किराए पर ब्लैंकेट उपलब्ध है। इसके अतिरिक्त यहां पर क्लॉक रूम की सुविधा भी मौजूद है जहां पर पर्यटक अपना ज़रूरी सामान जमा करवा सकते हैं।

जम्मू कश्मीर से कटरा कैसे पहुंचे - How to Reach Katra from Jammu and Kashmir in Hindi : 

  • जम्मू कश्मीर से कटरा पहुंचने के लिए कैब या टैक्सी की सुविधा उपलब्ध है। इसके अलावा मां वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड भी ट्रांसपोर्ट सुविधाएं उपलब्ध कराता है। यह सुविधाएं ऑनलाइन बुकिंग के जरिए अथवा ऑफलाइन बुकिंग के जरिए भी प्राप्त हो सकती हैं।

मां वैष्णो देवी मंदिर की चढ़ाई - Trek in goddess Vaishno Devi temple in Hindi :

  • मां वैष्णो देवी के मंदिर की चढ़ाई जितनी जटिल है उतनी ही रोमांचक भी। हम पर्यटकों को यह सलाह देंगे कि शुरू में वे दर्शनी दरवाजा जरूर देखें। जिसकी सुंदरता देखते ही बनती है। 
  • इसके बाद चढ़ाई के दौरान उन्हें बाढ़ गंगा मिलेगी जो कि कटरा से 1 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। ऐसा माना जाता है कि यहां पर मां वैष्णो देवी ने अपने केश धोए थे। 
  • इसके बाद आगे चलकर अर्धकुमारी गुफा है। यहां पर मां वैष्णो देवी ने 9 महीने शिव की तपस्या की थी। 
  • चढ़ाई के दौरान लंबी लाइन सबसे बड़ी चुनौती बन जाती है। हम पर्यटकों को यह सलाह देंगे कि रजिस्ट्रेशन के बाद वे तुरंत भवन की ओर चले जाएं। दर्शन में करीब 15 से 20 घंटे भी लग सकते हैं। 
  • श्राइन बोर्ड द्वारा भवन के लिए एक नया रास्ता बनाया गया है जहां पर पैदल सवारी ही जा सकती है जो 6 किलोमीटर ट्रैक के माध्यम से पार किया जाता है।
  • वहां पर पोनी ले जाने की सुविधा नहीं है। 

वैष्णो देवी में आरती बुकिंग - Aarti Booking at Vaishno Devi in Hindi :

  • वैष्णो देवी भवन पहुंचकर आप आरती के लिए बुकिंग जरूर कर दें। क्योंकि वह एक बेहद मनोरम दृश्य होता है। 
  • वैष्णो देवी आरती की बुकिंग ऑनलाइन भी उपलब्ध है उसके लिए जो वेबसाइट है वह है- maavaishnodevi.org
  • आरती के बाद आप भैरव घाटी में जरूर जाएं। यह एक स्टीप घाटी है जहां पर पोनी अथवा घोड़े का जाना मुश्किल होता है। पैदल सवारी के जरिए ही आप वहां जा सकते हैं।

वैष्णो देवी की यात्रा से पहले कुछ जरूरी चीजों का ध्यान रखें - Tips Before going for Vaishno Devi Temple Trip In Hindi : 

  • वैष्णो देवी की यात्रा चूंकि एक चढ़ाई नुमा यात्रा है, तो पर्यटकों को अपने आप को पहले से ही शारीरिक रूप से तंदुरुस्त करना होगा।
  • वहां पर शारीरिक फुर्ती की बहुत आवश्यकता होती है। गर्म कपड़ों की खरीदारी पर्यटक पहले से ही करके रखे।
  • इसके अलावा ट्रेन और होटल की बुकिंग भी उन्हें पहले से ही करनी होंगी क्योंकि बाद में अंत समय तक बुकिंग मिलना मुश्किल हो जाता है। 
  • यदि आप फौजी हैं तो अलग से स्पेशल एंट्री आपके लिए बनवाया गया है जहां पर जाकर आपको दो से तीन घंटों में ही दर्शन मिल जाते हैं। उसके लिए आप अपने साथ जरूरी कागजात एवं पहचान पत्र रख लें। 
  • वैष्णो देवी मां के मंदिर में ठहरने के लिए श्राइन बोर्ड के आवास भी मौजूद है उसके लिए भी आप पहले से बुकिंग करवा कर रखे। 
  • इसके अलावा ऑफलाइन बुकिंग निहारिका भवन कटरा बस स्टैंड के पास पार्वती भवन में उपलब्ध है।
  • पर्यटकों को इस बात का खास ख्याल रखना है कि दर्शन के दौरान वे अपनी यात्रा स्लिप अपने साथ ले जाना ना भूलें।
  • दर्शन करने के दौरान यदि आपको वहां लंबी कतार के चलते ठहरना पड़ जाए तो आपके लिए वहां ब्लैंकेट की सुविधा भवन में उपलब्ध हो जाएगी। 

मां वैष्णो देवी के मंदिर जाते समय ऐसी उम्मीद रखें- What to Expect During the Trip of Goddess Vaishno Devi Temple in Hindi :

  • हम जानते हैं कि मां वैष्णो देवी का मंदिर एक लोक प्रचलित पर्यटक स्थल है जहां पर दर्शन करने हजारों लाखों लोग आते हैं। इस वजह से भीड़ का होना स्वाभाविक है। 
  • हालांकि यहां पर लॉकर फैसिलिटी की सुविधा उपलब्ध है लेकिन कभी-कभी भीड़ अत्यधिक होने की वजह से यह सुविधा उपलब्ध नहीं हो पाती है। 
  • पर्यटकों को इस बात का खास ध्यान रखना है कि वे अपने साथ चढ़ाई के महत्वपूर्ण उपकरण लेकर ज़रूर जाएं। 
  • पर्यटकों को यह भी जानना होगा कि रास्ते में डिस्पेंसरी और केमिस्ट की दुकानें भी मौजूद हैं।
  • इसके अलावा वैष्णो देवी की चढ़ाई के दौरान डॉक्टर और मेडिकल एड की सुविधा 24 घंटे उपलब्ध रहती है। 
  • पर्यटक यदि त्योहारों के समय वैष्णो देवी मां के मंदिर में जाते हैं तो उन्हें हम यह बता दें कि उन उन दिनों लंबी कतारें होती है तथा दर्शन में समय और ज्यादा लगता है। 
  • मंदिर पहुंचने पर पर्यटकों को निशुल्क भंडारा की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी। वहां पर गर्म एवं ताजा भोजन मिलता है।

वैष्णो देवी की ऑफीशल वेबसाइट - Official Website of Vaishno Devi :

  • मां वैष्णो देवी भवन पहुंचने के लिए पर्यटककों को रहने की सुविधा हेतु, हेलीकॉप्टर, रोपवे तथा आरती की बुकिंग हेतु ऑनलाइन वेबसाइट की जरूरत पड़ सकती है।
  • इसके साथ ही पर्यटक अन्य महत्वपूर्ण सुविधाओं के लिए तथा वैष्णो देवी यात्रा के संदर्भ में कुछ और जानकारियां प्राप्त करने के लिए वैष्णो देवी की ऑफिशियल साइट पर विजिट कर सकते हैं। वैष्णो देवी की ऑफिशियल साइट है - maavaishnodevi.org

मां वैष्णो देवी हेलीकॉप्टर की सुविधा - Helicopter Facility Vaishno Devi Temple in Hindi :

  • हेलीकॉप्टर की सुविधा वैष्णो देवी में सहज ही उपलब्ध हो जाती है।
  • लेकिन आपको उस समय उसकी बुकिंग ऑनलाइन ही करवानी होगी। आप मां वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड की वेबसाइट पर जाकर हेलीकॉप्टर की बुकिंग की सारी जानकारी ले सकते हैं।
  • इसके अलावा आपको बुकिंग से पहले सभी तिथियां चेक करनी होंगी। 
  • हेलीकॉप्टर बुकिंग में पेमेंट भी ऑनलाइन ही की जाएगी। वहां पर आप वैष्णो देवी के मंदिर आते समय अपनी स्लिप ले जाना ना भूलें। वैष्णो देवी मंदिर में हेलीकॉप्टर का किराया एक तरफ से एक व्यक्ति के लिए ₹1045 है।

वैष्णो देवी दर्शन करने के लिए उड़न खटोला की सुविधा - Facility of Ropeway In Vaishno Devi Temple in Hindi : 

  • मां वैष्णो देवी के मंदिर के दर्शन करने के लिए हाल ही में उड़न खटोला की सुविधा भी जारी की गई है।
  • यह सुविधा मां वैष्णो देवी के मंदिर से भैरव घाटी तक के लिए उपलब्ध है। 
  • यह वैष्णो देवी से भैरव घाटी तक की यात्रा को 3:00 मिनट में पूरी कर देता है। 
  • इस रोपवे के जरिए हर घंटे 800 लोग जाते हैं। अतः पर्यटक इस रोपवे की सुविधा का आनंद उठाएं।

वैष्णो देवी पर्यटकों के लिए खरीदारी - Shopping At Vaishno Devi in Hindi :

  • वैष्णो देवी मंदिर में आकर पर्यटक यदि खरीदारी करना चाहते हैं तो हम उनको बता दें कि यहां पर कुछ पर्यटक स्थल जैसे भवन, संजीछत, अर्धक्वांरी, कटरा बस स्टैंड आदि जहां पर कई शॉपिंग को स्थल एवं बाजार उपलब्ध हैं। कटरा एंब्रायडरी फैब्रिक के लिए पूरे जम्मू में बेहद प्रसिद्ध है। इसके अलावा जम्मू में कश्मीरी सलवार सूट और साड़ियां भी सस्ते दामों में मिल जाती हैं। ड्राई फ्रूट्स जैसे बादाम और अखरोट की खरीदारी के लिए कटरा एक बहुत ही उत्तम खरीदारी स्थल है। इसके अतिरिक्त ऊनी कपड़े भी यहां पर अच्छे दामों में मिल जाते हैं।

कटरा में घूमने लायक पर्यटक स्थल - Tourist Places In Katra In Hindi : 

दोस्तों माता का दर्शन करने के बाद आप कटरा में इन जगहों पर भी घूम सकते हैं- 

  • अर्धक्वांरीगुफा
  • चरण पादुका मंदिर
  • त्रिकूट पर्वत
  • भैरव मंदिर
  • बाणगंगा नदी

सड़क मार्ग के जरिए वैष्णो देवी कैसे जाएं - How to Reach Vaishno Devi by Road in Hindi : 

  • मां वैष्णो देवी के मंदिर जाने के लिए सड़क मार्ग की सुविधा उपलब्ध है। सभी सरकारी एवं प्राइवेट डीलक्स एवं सेमी डीलक्स बस से जम्मू बस स्टैंड पर जाती है। जम्मू का सड़क मार्ग दिल्ली चंडीगढ़ शिमला इत्यादि मार्गो से जुड़ा हुआ है जम्मू बस स्टैंड पर पहुंचकर कटरा के लिए बस कर सकते हैं

रेल मार्ग के जरिए वैष्णो देवी कैसे पहुंचे - How to Reach Vaishno Devi by Train in Hindi : 

  • मां वैष्णो देवी पहुंचने के लिए सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन है जम्मू रेलवे स्टेशन से उतरने के बाद आप कटरा जाए |

हवाई मार्ग के जरिए वैष्णो देवी मंदिर कैसे पहुंचे - How To Reach Vaishno Devi By Flight in Hindi : 

  • हवाई मार्ग के जरिए वैष्णो देवी पहुंचने के लिए पर्यटकों को पहले जम्मू एयरपोर्ट पहुंचना होगा। यह एयरपोर्ट कटरा से 49 km दूरी पर स्थित है। वहां से आपको कैब अथवा टैक्सी के द्वारा कटरा जाना होगा | 
Nature