अनंतनाग में घूमने लायक जगह - Tourist places in anantnag in hindi

सभी पाठको को हमारा नमस्कार। आज हम अपने इस लेख के जरिए आपको अनंतनाग की सैर कराएँगे और यहाँ की तमाम जानकारी आप सभी के साथ साझा करेंगे, इसलिए लेख को अंत तक ज़रूर पढ़ियेगा। उम्मीद है आप सभी को लेख ज़रूर पसंद आएगा।

अनंतनाग में घूमने लायक जगह - Tourist places in anantnag in hindi
Nature

अनंतनाग में घूमने लायक जगह - Tourist Places of Anantnag in Hindi : 

  • यदि आप बर्फ के शौकीन हैं तो आपको श्रीनगर के अनंतनाग जिले में ज़रूर जाना चाहिए। यह स्थान जम्मू और कश्मीर का व्यापारिक केंद्र भी माना जाता है। कश्मीर की घाटियों से घिरे इस क्षेत्र में अनेक बाजार हैं। यह श्रीनगर से 62 कि.मी. की दूरी पर स्थित है। 
  • जम्मू और कश्मीर के इस शहर के बारे में कहा जाता है कि 5000 ईसा पूर्व से यह शहर बाजारों के चहल-पहल से क्षेत्र बन गया और तब से इसे सबसे तेजी से विकसित होने वाले शहर का नाम दिया जाता है|इस सुंदर स्थान के रास्ते में 7 धार्मिक स्थल भी आते हैं। जिनमें से हज़रत बाबा रेशी दरगाह, शालिग्राम मंदिर, नीला नाग मंदिर और गोस्वामी कुंड आश्रम आदि। इस स्थान के बारे में ऐसा कहा जाता है कि भगवान शिव ने अमरनाथ की गुफा की ओर जाते हुए अनेक नागों का त्याग किया और उस जगह अनंतनाग के नाम से जाना जाने लगा। 

अनंतनाग में घूमने लायक पर्यटन स्थल - Best Places in Anantnag in Hindi : 

1. मार्तंड सूर्य मंदिर, अनंतनाग - Martand Surya Temple Anantnag in Hindi :

मार्तंड मंदिर अनंतनाग का बहुत प्रसिद्ध मंदिर है जो भगवान् सूर्य को समर्पित है| यह मंदिर अनंतनाग से लगभग 5 कि.मी. की दूरी पर स्थित है| चूना पत्थर की अद्भुत कला से बना ये मंदिर अपनी वास्तुकला के लिए जाना जाता है| इस मंदिर का निर्माण लगभग 7वीं से 8वीं शताब्दी के मध्य कर्कोट राज्वंस के राजा ललितादित्य द्वारा कराया गया था| इस मंदिर का परिसर इतना सुंदर है कि यात्री यहाँ घूमना बेहद पसंद करते हैं| यदि आप भी अनंतनाग आए तो इस स्थान की यात्रा करना बिल्कुल न भूलें|  

2. अमरनाथ की गुफा, अनंतनाग - Amarnath Cave Temple Anantnag in Hindi : 

  • अमरनाथ हिन्दू धर्म के देवता भगवान शिव को समर्पित स्थान है यहाँ हर वर्ष लाखों भक्त और श्रद्धालु अपनी मनोकामना पूर्ति और भगवान शिव की दर्शन की इच्छा से यहाँ आते हैं। यह स्थान अनंतनाग से 67 कि.मी. की दूरी पर स्थित है जो समुद्री तल से लगभग 13700 फीट की ऊँचाई पर है। इस मंदिर के बारे में मान्यता है कि यह मंदिर लगभग 5000 वर्ष पुराना है|
  • यहाँ की प्रमुखता अमरनाथ गुफा में बर्फ की शिवलिंग का स्वयं प्रकट होना और न पिघलना। ऐसा माना जाता है कि चंद्रमा के घटने-बढ़ने के चक्र के साथ इस शिवलिंग का आकार भी घटता-बढ़ता रहता है। सावन के महीने में जुलाई से लेकर अगस्त तक लगभग पूरे 45 दिन यहाँ मेला लगता है| और यात्री भारी मात्रा में यहाँ दर्शन करने आते हैं| इसलिए आप जब भी जम्मू और कश्मीर आए इस पवित्र और अद्भुत जगह पर आना न भूलें।

 3. मस्जिद बाबा दाऊद, अनंतनाग - Masjid Baba Daaud Anantnag :

  • मस्जिद बाबा दाऊद अनंतनाग की सबसे प्राचीन मस्जिदों में से एक हैं जो लगभग 600 साल पुरानी है| यह मस्जिद अनंतनाग के मोहल्ला खाकी शाबान में रेशे वाले बाजार में स्थित है जो अपनी सुन्दरता और खूबसूरती से पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती रहती है| 
  • मस्जिद का नामकरण बाबा दाऊद के नाम पर किया गया है क्योंकि ऐसा माना जाता है कि वे इस स्थान के सबसे विद्वान लोगों में से एक हैं जिन्होंने हज़रत शेख हज़मा मखदूम साहिब का अनुसरण कर उनके मतों को चारो ओर फैलाने का कार्य किया| जिस कारण उन्हें इस स्थान का सबसे बड़ा काज़ी घोषित कर दिया गया| आज दूर-दूर से यात्री इस मस्जिद की अद्भुत चमक देखने यहाँ आते हैं| 

4. ज़ियारत बाबा हैदर रेशी दरगाह , अनंतनाग - Ziyarat Baba Hyder Reshi Dargaah Anantnag :

  • ज़ियारत बाबा हैदर रेशी की दरगाह अनंतनाग के महत्पूर्ण पर्यटक स्थलों में से एक है| ये दरगाह हैदर रेशी और और उनके 25 शिष्यों की स्मृति में बनवाई गई थी| अनंतनाग के दान्टर गाँव में ये दरगाह स्थित है| जहाँ का नजारा आपको अचंभित कर देगा|
  • जैसे ही आप दरगाह के भीतर जाते है आपको ज़ियारत बाबा हैदर रेशी और उनके 25 शिष्यों की कब्र स्मृति दरगाह परिसर में मिलेगी| जिसके आस-पास प्रकृति की छटा बिखरी है| सभी धर्मों और समुदाय के लोग बाबा हैदर रेशी की दरगाह पर आते हैं और उन्हें सम्मान से नवाज़ते हैं| रमज़ान के महीने में और बाबा हैदर रेशी की सालगिरह के दौरान सात दिन तक सभी लोग मांस से परहेज करते हैं|  

5. किश्तवर राष्ट्रीय उद्यान, अनंताग - Kishtwar National Park Anantnag : 

  • किश्तवर राष्ट्रीय उद्यान यह स्थान जम्मू और कश्मीर के किश्तवर जिले में स्थित है। ये राष्ट्रीय उद्यान कियार, किबार नालस, और नाथ जल क्षेत्रों को ग्रहण करता है। साथ ही ये स्थान हिमालय के बीच क्रिस्टलीय बेल्ट में स्थित है।
  • जो किश्तवर टाउन के ठीक ऊपर ही चेनाब नदी से जाकर मिलते हैं। आप सोचिये ये संगम देखना कितना खूबसूरत अनुभव होगा। यह इलाका बेहद ही उबड़-खाबड़ है जो घचा-घच भरा रहता है। आप जब भी यहाँ आए तो इस राष्ट्रीय उद्यान बिलकुल घूमने आए |

अनंतनाग घूमने का सबसे सही समय - Best Time to visit Anantnag in Hindi :

  • ऐसे तो आप कभी भी अनंतनाग की यात्रा पर निकल सकते हैं लेकिन यदि आप मद्धिम सूर्य की किरणों में चमकते अनंतनाग को देखना चाहते हैं तो मार्च से अगस्त तक का समय यहाँ आने के लिए बिलकुल उचित है। इस समय यहाँ का समय पर्यटकों के अनुकूल होता है क्योंकि उस समय तापमान लगभग 8 से 23 डिग्री के बीच होता है| बस अक्सर रात के ठंड बढ़ जाती है| 
  • लेकिन यदि आप यहाँ की बर्फ देखने और उसमें इंजॉय करने के शौकीन हैं तो आप नवम्बर से जनवरी तक के समय भी यहाँ के वातावरण का आनंद लेने आ सकते हैं। लेकिन उस समय यहाँ का तापमान अकसर माइंस में चला जाता है और जम कर बर्फ़बारी भी होती है|

अनंतनाग के मशहूर बाजार और प्रमुख खरीदारी की चीज़ें - Best Shopping Market of Anantnaag in Hindi : 

  • अनंतनाग जितना दिखने में सुंदर हैं उतने ही यहाँ के बाजार भी एक अनोखा ही रंग लिए हुए हैं| जो विभिन्न रंगों से सजे हुए हैं| क्योंकि ये स्थान कश्मीर का मात्र एक शहर नहीं है यह एक जिला है जहाँ से कई व्यापार और चीजों का उत्पादन भी होता है| यहाँ आपको कश्मीरी सेब की कई किस्में देखने को मिलेंगी, लकड़ी के बल्ले और अन्य साजो सामान भी देखने को मिलेगा, इसके अलावा कश्मीरी शिल्प की कई हस्तकलाएँ भी देखने को मिलेंगी| 

यहाँ के मुख्य बाजार हैं-

  • लाल चौक
  • के.पी. रोड़
  • रेशी बाजार
  • न्यू मार्केट
  • जगलात मंडी
  • जैन बाजार
  • इकबाल मार्केट 
  • कुलगम

अनंतनाग का फेमस खाना - Best Local Food of Anantnaag in Hindi :

  • कश्मीर के यह शहर जितना आपकी आँखों को खुबसूरत लगगे उतना ही यहाँ का भोजन आपको लुभा जायेगा। यहाँ के खाने का स्वाद आपके मुँह से दिल तक उतर जाएगा। जम्मू और कश्मीर हर जगह आपको पूरा कश्मीरी व्यंजन मिलता है, जो सौंफ, इलाइची, अदरक, केसर, दालचीनी, लोंग जैसे खड़े मसालों के स्वाद से सम्पन्न होता है। 
  • अनंतनाग के भी आपको इस खाने की महक ही नहीं स्वाद भी चखने को मिलेगा| अनंतनाग एक मुख्य शहर है जिस कारण यहाँ कश्मीर की वेज और नॉन वेज डिश मिलती है| रोशन गोश, मत्शगंद, आब गोश, गाद, कश्मीरी कबाब, स्युन अल्लो, चमनी कलियाँ, यखनी, कश्मीरी दम आलू, जाफ़रानी प्लाव, नदिएर पलक, वेथ तस्मान, चोएज वंगन आदि|

इन सब व्यंजनों को चखने के बाद आप बिलकुल यहाँ दुबारा आना नहीं भूलेंगे|

अनंतनाग कैसे पहुँचे - How To Reach Anantnaag in Hindi: 

आप अनंतनाग सड़क, प्लेन और ट्रेन के रास्ते आराम से पहुँच सकते हैं। साथ ही यदि आप अपनी यात्रा का पैकेज चाहे तो www.redgotrip.com के जरिय भी बुक कर सकते हैं। 

प्लेन के रास्ते अनंतनाग कैसे पहुँचे - How To Reach Anantnag by Flight in Hindi :

  • यदि आप प्लेन के रास्ते अनंतनाग पहुँचना चाहते हैं तो आप सीधा श्रीनगर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतर सकते हैं। यहाँ से अनंतनाग लगभग 62 कि.मी. की दूरी पर स्थित है, जहाँ से आप कैब, प्राइवेट टैक्सी के जरिए अनंतनाग पहुँच सकते हैं। इस हवाई अड्डे से पंजाब, दिल्ली, मुम्बई, चंडीगढ़ आदि बड़े राज्यों से सीधे हवाई सेवा उपलब्ध है।

ट्रेन के रास्ते अनंतनाग कैसे पहुँचे - How To Reach Anantnaag By Train in Hindi :

  • प्रिय पाठक अगर आप ट्रेन के रास्ते अनंतनाग पहुँचना चाहते हैं तो अनंतनाग का निकटतम रेलवे स्टेशन जम्मू तवी है जहाँ से आप टैक्सी या कैब के जरीय अनंतनाग पहुँच सकते हैं। इस रेलवे स्टेशन से काफी बड़े राज्यों से सीधे ट्रेन सेवा उपलब्ध है।

सड़क के रास्ते अनंतनाग कैसे पहुँचे - How To Reach Anantnaag By Road in Hindi :

  • अनंतनाग, जम्मू और कश्मीर, दिल्ली, चंडीगढ़, आदि बड़े शहरों से सीधे सड़क नेटवर्क से जुड़ा हुआ है। साथ ही अनंतनाग के लिए कई बस सेवाएं भी उपलब्ध हैं। यदि आप अपने वाहन से अनंतनाग जाना चाहते हैं तो यह भी आपके लिए एक सुखद यात्रा होगी। जम्मू से अनंतनाग लगभग 237 कि.मी. है| 
Nature